रावणों की बस्ती में आज जलेगा रावण

Jyoti jain/ Rajasthan 

 

दस सिर वाला मर जाएगा आज। इतने सालों से तो मरता आ ही रहा है बिचारा। अब तो आदत सी हो गई होगी उसकी। मगर एक बात बताओ जरा… ये तो मर जाएगा, लेकिन उस रावण का क्या? जो जिन्दा तो है मगर दिखता भी नहीं, कोई मारने की कोशिश करता भी नहीं। आंखों के सामने है मगर खौफ इतना कि हम आंखें बन्द कर लेते है मगर देखने की कोशिश करते ही नहीं।
कहते है हर इंसान में राम है, मगर वर्तमान परिपेक्ष्य में ये आधा सच है। राम है मगर चेहरे पर, मन में तो एकछत्र रावण है। रावण को जलाते-जलाते इंसानों को पता ही नहीं चला की उसके दस सिरों से फूटते पटाखों के साथ उसकी कुटिल बुद्धि भी इंसानों पर बरसती रही। एक रावण मर कर हजार रावण पैदा करता गया। अब एक जिन्दा रावण, एक पुतले रावण को जलाकर अट्टाहास करता है और वो जलता हुआ रावण अपनी चिता से चिखता है कि देखो!! रावण नहीं ये तुम्हारें चेहरे का राम जल रहा है, रावण तो अभी तुम्हारे भीतर पनप रहा है।

 

Rawana-dahana

 
क्रोध का, अहंकार का, घृणा का, पाप का, लिप्सा का, लोलुपता का, भ्रम का, झूठ का… हजारों रावण तुम्हारे भीतर जनम ले रहे हैं और प्रत्येक साल तुम्हें पाप से ज्यादा पापी बना रहा हूं मैं, इक पुतला रावण तुम्हारे मन के रावण पर हंस रहा है। तुम्हारे मन का वो रावण जिसकी लालायित नजरें किसी नारी को नहीं बख्श रही, जिसकी वहशी निगाहें चीरने लगी है रोज कई सीताओं को, नोंच रही है हजारों सीताओं की अस्मत को, तुम्हारे मन के अहंकार का कद रावण के पुतले से भी बड़ा होने लगा है। तुम्हारे पापों के आगे अब रावण का पुतला राम सा प्रतीत होने लगा है, जिसने सीता को छुआ तक नहीं, और तुम्हारे मन के रावण ने किसी सीता को छोड़ा तक नहीं। तुम्हारी क्रुरता हर लपट के साथ पोषित होती जा रही है।
बधाई हो, रावण नहीं जल रहा है, तुम्हारे चेहरे का राम जल रहा है। 
बधाई हो, दशहरा जल रहा है, दशानन नहीं जल रहा है।

 

P.S.- आज सच में सारे रावण जल जाएंगे, कल से लड़कियां सुरक्षित हो जाएंगी। 
बाकी हर बार की तरह हैप्पी दशहरा।

 

About jyoti jain

मैं हर सन्नाटे को पिघलाकर उन्हें शब्दों में गढ़ना चाहती हूँ ताकि जो कभी कहा नहीं वो भी सुनाई दें।
This entry was posted in dussehra festival, Uncategorized and tagged , , , , , , . Bookmark the permalink.

1 Response to रावणों की बस्ती में आज जलेगा रावण

  1. सचिन says:

    अद्भुत

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s