Category Archives: sufi content

रूह फिर जिन्दा होगी…

ज्योति जैन/ राजस्थान.   उस वक्त उसका जिस्म गर्म भट्टी की तरह तप रहा था। लाल झक्क आंखों से आंसू लावे की तरह बरस रहे थे। वो कभी उंगलियों को मुट्ठी की तरह कसकर भिंचती, कभी फिर छोड़ देती शिथिल। … Continue reading

Posted in love, sufi content, Uncategorized | Tagged , , , , , | 11 Comments